live
S M L

कैंपेन से पहले अतिशी ने अपने नाम से क्यों हटाया 'मार्लेना'?

अतिशी का सेकेंड नेम उनके ट्विटर हैंडल से गायब है, वहीं पार्टी के ऑफिशियल स्टेटमेंट, पोस्टर्स और प्रचार सामग्री से भी मार्लेना गायब दिख रहा है

Updated On: Aug 28, 2018 01:28 PM IST

FP Staff

0
कैंपेन से पहले अतिशी ने अपने नाम से क्यों हटाया 'मार्लेना'?

दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार ने सोमवार को लोकसभा चुनावों के लिए अपना पहला उम्मीदवार चुन लिया है. उप-मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया की पूर्व सलाहकार रह चुकी अतिशी मार्लेना को पूर्वी दिल्ली सीट की लोकसभा सीट से 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए उम्मीदवार चुना गया है. अतिशी को जून में इस सीट का प्रभारी बनाया गया था.

लेकिन अतिशी मार्लेना इसके अलावा एक और खास कारण से चर्चा में बनी हुई हैं. उन्होंने अपने नाम से 'मार्लेना' हटा दिया है. उनका सेकेंड नेम उनके ट्विटर हैंडल से गायब है, वहीं पार्टी के ऑफिशियल स्टेटमेंट, पोस्टर्स और प्रचार सामग्री से भी मार्लेना गायब दिख रहा है.

हर जगह से गायब है 'मर्लेना'

अतिशी को जून में इस सीट का प्रभारी बनाया गया था. उस वक्त पार्टी ने पांच लोकसभा सीटों के लिए प्रभारी चुना था. 1 जून को पार्टी की ओर से जारी किए गए आधिकारिक बयान में अतिशी का पूरा नाम नहीं था, जबकि बाकी प्रभारियों के पूरे नाम थे. बयान में अतिशी का नाम मिस अतिशी लिखा हुआ था. इसके पहले तक पार्टी अपने अपने बयानों में उनका पूरा नाम इस्तेमाल करती थी.

अब हर जगह से मार्लेना गायब है. वहीं ट्विटर पर @AtishiMarlena हैंडल से मौजूद अतिशी के अकाउंट का नाम बदलकर @AtishiAAP कर दिया गया है. हालांकि आप की वेबसाइट अतिशी मार्लेना के पेज पर उनका पूरा नाम लिखा हुआ है.

सोमवार को आम आदमी पार्टी ने ईस्ट दिल्ली चुनाव क्षेत्र में अपने नए ऑफिस का उद्घाटन किया. यहां भी पार्टी के आधिकारिक बयान में मर्लेना गायब रहा और यहां जो प्रचार सामग्री बांटी गई, उसमें भी उनका नाम बस अतिशी लिखा हुआ था.

सवाल उठने के बाद पार्टी ने दी सफाई

अतिशी के सेकेंड नेम को हटाने के बाद काफी सवाल उठ रहे हैं? लोग सोच रहे हैं कि कैंपेन से पहले अतिशी ने अपना नाम क्यों बदला है? ये भी सवाल है कि क्या पार्टी ने उन्हें ऐसा करने को कहा है? इस पर पार्टी ने सफाई दिया है कि उनके सेकेंड नेम से उनके ईसाई या विदेशी होने का आभास होता है, जो काफी भ्रामक है, इसलिए अतिशी ने अपना नाम हटाने का फैसला किया है.

पार्टी ने ये भी कहा कि इस फैसले में पार्टी की कोई भूमिका नहीं है. पार्टी के सूत्रों ने बताया कि अतिशी का सरनेम सिंह है. मार्लेना भी उनका फर्स्ट नेम ही है. लेकिन ईस्ट दिल्ली क्षेत्र से कई लोग आ रहे थे, जो पूछ रहे थे कि वो कहां से हैं. इस सबसे काफी भ्रम पैदा हो रहे थे इसलिए अतिशी बस अपना एक नाम इस्तेमाल कर रही हैं, जैसे आशुतोष करते रहे हैं.

अतिशी को मार्लेना नाम उनके पिता विजय सिंह और उनकी मां तृप्ति वाही ने मार्क्स और लेनिन के नाम को मिलाकर दिया है.

ईस्ट दिल्ली का ऑफिस लक्ष्मी नगर मेट्रो स्टेशन के पास विकास मार्ग पर खोला गया है. अब उद्घाटन हो जाने के बाद और इस लोकसभा सीट के लिए उम्मीदवार चुने जाने के बाद अतिशी यहां का पूरा काम-काज संभालेंगी. वो जुलाई 2015 से 17 अप्रैल 2018 तक मनीष सिसोदिया की सलाहकार के तौर पर काम कर चुकी हैं. अतिशी 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनावों में पार्टी का मेनिफेस्टो ड्राफ्ट करने के टास्क में भी शामिल थीं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi